सरकार हादसे से सबक ले

पलवल में जिस स्थिति में चार सफाई कर्मियों की मौत हुई है, उसे सुनकर गहरा दुख हुआ। मुझे बताया गया कि फैक्टरी में केमिकलयुक्त पानी की टंकी को साफ करना सफाईकर्मियों का रोज का काम था। छुट्टियों के कारण तीन दिन से टैंक की सफाई नहीं हुई थी, जब सोमवार को टैंक की सफाई करने कर्मी उतरे तो जहरीले पानी में दम घुटने से वे बेहोश हो गए। बाद में अस्पताल में उनकी मौत हो गई।  [Report]

आश्चर्य होता है कि आज भी हमारे देश की कंपनियों में कर्मचारी इस तरह के दमघोटू माहौल में काम करते हैं। इसे मैं पूरी तरह से मानवीय लापरवाही का नतीजा मानता हूं। मैं जानता हूं कि इस मामले को लेकर सरकार की ओर से जांच होगी। कुछ लोगों को दोषी करार दिया जाएगा, अदालत में केस चलेगा। लेकिन सरकार इस पूरे हादसे से कोई सबक नहीं लेगी! पलवल चमड़ा फैक्टरी की तरह ही हरियाणा और देश में कई ऐसी कंपनियां हैं जो अपने ही कर्मचारियों के जीवन से खिलवाड़ कर रही हैं। उन्हें बेहतर कामकाज का माहौल मुहैया नहीं करा रहीं हैं।

पलवल की चमड़ा फैक्टरी में हुआ हादसा हम सभी के लिए सबक है। राज्य सरकार की जिम्मेदारी बनती है कि इस पूरी मामले की तहकीकात करे। हादसे में मारे गए परिजनों को उचित मुआवजा दे, उनके बच्चों की शिक्षा की व्यवस्था करे। साथ ही राज्य में इसतरह के हालत फिर से पैदा न हो, इसके लिए पुख्ता इंतजाम करे। ऐसे हालात केवल लापरवाही की वजह से पैदा होते हैं। आज आधुनिक मशीने उपलब्ध हैं। जिनका प्रयोग कर हम इसतरह के खतरों से बच सकते हैं।

देश आज भी भोपाल गैस हादसा नहीं भूल पाया है। जब एक लापरवाही कीमत हजारों लोगों ने अपनी जान देकर चुकाई थी।

सबक नहीं लिया गया तो हादसे होते रहेंगे…हमें इसे रोकना ही होगा…

जय हिन्द…

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: